नई दिल्ली | पंजाब से लेकर हरियाणा तक किसानों के विरोध प्रदर्शन का व्यापक असर दिख रहा है. अंबाला बॉर्डर पर किसान और पुलिस आमने-सामने आए. जहां लाठीचार्ज, पानी की बौछार, आंसू गैस का इस्तेमाल किया गया तो वहीं किसानों ने भी पथराव किया. प्रदर्शन के कारण दिल्ली बॉर्डर पर भारी जाम लग गया है और लोगों को पैदल चलना पड़ रहा है.
किसानों को सीमा पर रोकने के मुद्दे पर पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा है कि किसानों को रोकना इस देश की संवैधानिक भावना और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के खिलाफ है. उन्होंने आगे कहा, "मुझे लगता है कि हरियाणा सरकार को उन्हें जाने की अनुमति देनी चाहिए थी और अपनी बात रखने के लिए दिल्ली सरकार को उन्हें बैठने के लिए जगह देनी चाहिए."
हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर पर पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने पटलवार किया है. कैप्टन ने कहा कि किसानों पर आपकी प्रतिक्रिया चौंकाने वाली है. ये किसान हैं, जिन्हें एमएसपी पर आश्वत होना है, मुझे नहीं. किसानों के दिल्ली चलो आंदोलन से पहले आपको उनसे बात करनी चाहिए थी. अगर आपको लगता है कि मैं किसानों को उकसा रहा हूं तो हरियाणा के किसान भी दिल्ली क्यों मार्च कर रहे हैं?
शिरोमणि अकाली दल के प्रमुख सुखबीर सिंह बादल ने कहा है कि कैप्टन को वहां जाकर आंदोलन करने की जरूरत है, लेकिन वो चुप होकर बैठे हैं और पानी की बौछारों का सामना करने के लिए किसानों को सड़कों पर लगा दिया है. उन्हें पीएम और कृषि मंत्री के साथ मिलकर प्रेशर बनाना चाहिए. किसानों को हमारा पूरा सहयोग है. उनके मन में एक बात है जिसके चलते वो पॉलिटिकल झंडे के नीचे कैंपेन शुरू नहीं करना चाहते. इस वक्त सभी पार्टियों के किसान इकट्ठा हैं. हमारी पार्टी को जैसा आदेश दिया जाएगा हम उसका पालन करेंगे
पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह और हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के बीच किसानों के मुद्दों को लेकर जुबानी जंग तेज हो गई है. सीएम मनोहर लाल खट्टर ने ट्वीट करके कहा है कि एमएसपी को लेकर किसी तरह की परेशानी किसानों को झेलनी पड़ेगी तो वह राजनीति छोड़ देंगे.
सोनीपत-पानीपत हलदाना बॉर्डर पर भारी संख्या में पुलिसबल की तैनाती की गई है. जीटी रोड पर मिट्टी और पत्थर डालकर मार्ग को अवरुद्ध किया गया है. एडीजीपी संदीप खिरवार खुद यहां मोर्चा संभाल रहे हैं. कई आला अधिकारी भी मौके पर मौजूद हैं
किसानों के विरोध प्रदर्शन के कारण दिल्ली में जाम की स्थिति आ गई है. दिल्ली पुलिस अब बॉर्डर पर वाहनों की चेकिंग कर रही है, ताकि किसान दिल्ली में ना जा सकें. लंबे जाम के कारण कई लोगों को पैदल ही सफर करना पड़ रहा है. सिंधु बॉर्डर पर लंबा जाम होने के कारण पुलिस ने अब एक लेन पर बैरिकेड हटाया है.