वाशिंगटन । चीन की बढ़ती चौधराहट को लेकर दुनिया लामबंद हो रही है। अमेरिकी सांसदों ने भी राष्ट्रपति ट्रंप को एक चिट्ठी लिख टिकटॉक को अविश्वनीय करार देते हुए भारत की तरह इसे प्रतिबंधित करने के लिए पत्र लिखा है। अमेरिका लगातार चीन के खिलाफ बयानबाजी कर रहा है। इस बीच अमेरिकी कांग्रेस के 25 सदस्यों ने राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को एक चिट्ठी लिखी है। इसमें मांग की गई है कि अब वक्त आ गया है कि अमेरिका को भी भारत जैसा सख्त फैसला लेना चाहिए और देश में टिकटॉक समेत चीन के अन्य ऐप्स पर बैन लगा देना चाहिए। इस चिट्ठी में कहा गया है कि जून में भारत ने चीन के खिलाफ बड़ा कदम उठाया, राष्ट्रीय सुरक्षा के मसले पर टिकटॉक जैसी कई मोबाइल ऐप पर बैन लगा दिया। चीन की कम्युनिस्ट पार्टी का एक ही मकसद है कि लोगों का डाटा इकट्ठा किया जाए और जानकारी जुटाई जाए, जिसके खिलाफ भारत सरकार ने फैसला लिया।
डोनाल्ड ट्रंप से अपील की गई है कि अमेरिका को टिकटॉक पर विश्वास करने की जरूरत नहीं है, जो वेबसाइट या ऐप्स अमेरिका के लिए खतरा हो उन्हें तुरंत बैन करना चाहिए। जैसे भारत ने किया है। आपको बता दें कि अगले हफ्ते अमेरिकी सीनेट में इसको लेकर वोटिंग भी होनी है। एक सीनेटर के द्वारा प्रस्ताव लाया गया है जिसमें टिकटॉक को बैन करने की मांग की गई है। इस पर अगले हफ्ते सभी सीनेटर वोट करेंगे।
भारत सरकार की ओर से पिछले महीने चीन के कुल 59 ऐप्स पर बैन लगाया गया था, जिसमें टिकटॉक भी शामिल था। आरोप था कि ये सभी ऐप्स पर्सनल डाटा चुराते हैं, जो देश की सुरक्षा के लिए खतरा हैं। भारत के इस कदम से दुनिया में एक बड़ा संदेश गया था और अन्य देशों के लिए ये फैसला लेने का एक रास्ता खुला था। भारत ने ये फैसला तब लिया था जब बॉर्डर पर चीन के साथ तनाव अपने चरम पर था और संघर्ष में 20 जवान शहीद हो गए थे।