कोलकाता, पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद में बुधवार को बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष की गाड़ी पर हमला हुआ. बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष की गाड़ी पर पत्थर फेंके गए. दिलीप घोष के काफिले में पुलिस की गाड़ी भी थी. दिलीप घोष ने तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं पर हमले का आरोप लगाया है. 15 दिन के भीतर बंगाल बीजेपी अध्यक्ष के काफिले पर ये दूसरा हमला है. बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष ने ट्वीट किया कि मुर्शिदाबाद के कांडी में आज दिन में 3 बजकर 45 मिनट और पुरन्दरपुर में 5 बजकर 32 मिनट पर टीएमसी के गुंडों ने काले झंडे दिखाए और मेरी गाड़ी पर पत्थर फेंके. बीजेपी नेता ने आगे कहा कि ते, हताश और निराश टीएमसी अब आखिरी प्रयास के रूप में पॉलिटिकल टेररिज्म की कोशिश कर रही है. वहीं, इस पूरे मामले पर पश्चिम बंगाल बीजेपी के प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय ने भी ट्वीट किया. उन्होंने कहा कि उसी मुर्शिदाबाद में जहां मेरी गाड़ी को कुछ विशेष वर्ग के असामाजिक लोगों ने घेर लिया था. वहीं आज दिलीप घोष की गाड़ी पर हमला हुआ है. आश्चर्य की बात ये है कि उनकी गाड़ी के पीछे जिले के SP की गाड़ी थी.
इससे पहले बुधवार को ही राज्य के बीरभूम जिले के सुरी में दिलीप घोष की रैली में बीजेपी कार्यकर्ताओं के एक ग्रुप पर हमला किया गया था. हमले में कुछ गाड़ियों में तोड़फोड़ भी की गई थी. यह घटना बोलपुर पुलिस स्टेशन के अंतर्गत आने वाले सिमुलिया में हुई थी. हमले में एक वाहन और कुछ बाइक में तोड़फोड़ की गई थी. बीजेपी कार्यकर्ताओं ने आरोप लगाया था कि उन पर क्रूड बम तक फेंके गए.बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष ने आरोप लगाया है कि सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस उनकी रैली में भाग लेने के लिए बीरभूम के दूर-दराज के क्षेत्रों से आने वाले बीजेपी कार्यकर्ताओं को डराने की कोशिश कर रही है.

पहले भी हो चुका है हमला
बता दें कि बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष के काफिल पर इससे पहले 12 नवंबर को हमला हुआ था. यह हमला तब हुआ था जब उनका काफिला अलीपुरद्वार से गुजर रहा था. काफिले पर पत्थर फेंके जाने से कुछ गाड़ियों के शीशे टूट गए थे और कुछ गाड़ियों को भारी नुकसान हुआ था.